बीएफ देसी चूत

Image source,लड़की की चोदा चोदी

तस्वीर का शीर्षक ,

पुराने वॉलपेपर: बीएफ देसी चूत, और वो तनाव से फट रहे अपने लंड को मेरे हाथ में हल्के हल्के आगे पीछे करने लगा।उसका दबाव थोड़ा बढ़ा तो उसके लंड की टोपी खुल गई और उसने पूरा जोर लगाकर अपना लंड मेरे हाथ में घुसा दिया जिसको मैंने कसकर अपनी मुट्ठी में भर रखा था।वो भी मज़े में काबू खोता जा रहा था और मैं भी.

लेडीस को सेक्स

अब तो सिर्फ़ 2 पेपर बचे हैं।फरहान ने कहा तो आहिस्ता आवाज़ में ही था. सेक्सी नंबर चाहिएजिससे मेरे बदन में भी सिहरन सी होने लगी।मुझे भैया पर हँसी भी आ रही थी और गुस्सा भी.

रीना रानी कुछ देर मेरी ओर आँखें तरेर कर देखती रही।जब मैंने कुछ गड़बड़ नहीं की तो बोली- पहले तो मैंने उसके साथ यूँ ही औपचारिक बातें कीं, अपने बारे में बताया और उसके बारे में पूछा. सेक्सी गाने का वीडियोतुम नहीं जानते ही कि एक औरत को जब सेक्स का मज़ा मिल चुका हो और उस के बाद जब उसे सेक्स करने को नहीं मिलता तो उसे कैसा लगता है.

तो फरहान कंप्यूटर के सामने बैठा था और ट्राउज़र से अपना लण्ड बाहर निकाले.बीएफ देसी चूत: पर मैं उसको और तड़पाना चाहता था।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !कुछ मिनट तक लण्ड हिलाने के बाद जब मुझे लगा कि मेरा माल निकल जाएगा.

आपी को ख़याल ही नहीं रहा था कि उनका हाथ अभी तक मेरे लण्ड पर ही है और उन्होंने बेख़याली में ही उसे बहुत मज़बूती से थाम रखा था।मैंने आपी का मूड कुछ बेहतर होते देखा तो शरारत से कहा- रोते रोते भी मेरे लण्ड को नहीं छोड़ा आपने.पर आपी बर्दाश्त कर रही थीं। आपी ने अपने दोनों हाथों से टेबल को साइड्स से पकड़ा हुआ था। मैं दस मिनट तक ऐसे ही आपी को चोदता रहा और आपी अपनी आवाज़ दबाए चुदवाती रहीं।दस मिनट बाद आपी ने मुझसे कहा- सगीर अब काम ठीक है.

सेक्स story.com - बीएफ देसी चूत

फिर मैं नीचे होकर उसकी बुर को चाटने लगा। इससे वो काँपने लगी। ट्रेन फुल स्पीड में चली जा रही थी।कुछ देर मैं उसे ऐसे ही चाटता रहा.वाह्ह्ह… निहारिका के कूल्हे तो उस नीले रंग की स्किन टाईट पैंन्ट में तरबूज की तरह लग रहे थे, कूल्हों की दरार भी स्पष्ट दिखाई दे रही थी।मेरा लण्ड तो कब से उसके वासना भरे शरीर को सलामी देकर टाइट हो गया था। ऐसा लग रहा था कि उसे यहीं चोद डालूँ।फिर मैंने इश्कबाज होकर हाथ बढ़ाया और बोला- हैलो.

सारे तरीके भूल कर उन दो सफेद गोलों पर टूट पड़ा।मैंने उनको आजाद कराया और एक को अपने मुँह से चूसना शुरू किया.बीएफ देसी चूत उन्होंने मेरा हाथ पकड़ कर मुझे बाहर करके अन्दर से दरवाजा बन्द कर लिया।मैं बाहर खड़ा होकर इन्तजार करने लगा और जब भाभी ने दरवाजा खोला तो मेरी आँखें फटी की फटी रह गईं.

मगर सोते समय आज भी भाभी की नाईटी उनके घुटनों तक पहुँच गई और भाभी की संगमरमर सी सफेद पिण्डलियाँ दिखने लगीं।भाभी उसे ठीक किए बिना ही सो गईं और मैं फिर से पढ़ाई करने लगा। मगर मेरा ध्यान अब पढ़ने में कहाँ था.

चोदा चोदी को?

बीएफ देसी चूत पर फरहान नहीं हटा और वो चूत को चूसता रहा।कुछ देर हनी की चूत को चूसने के बाद फरहान ने अपनी ज़ुबान हनी की चूत के अन्दर की.

ब्लू फिल्म लावा?अनुष्का शर्मा सेक्सी

बीएफ देसी चूत मैं हमेशा तुम्हारे लिए हाज़िर रहूँगा।‘सगीर मैंने कभी सोचा भी नहीं था.

तेल से जलने पर क्या लगाना चाहिए

चुदाई का खेल जारी रहा और आज इस बात को 3 साल हो गए हैं। मज़े की बात तो ये है कि आज उनका एक बेटा है। अब भी जब भी जाना होता है.मैं ये नहीं कह रही कि ये बहुत अच्छा काम है।मैंने आपी की बात का कोई जवाब नहीं दिया और उनको कहा- अच्छा आपी खड़ी हो जाओ।आपी ने सवालिया नजरों से मुझे देखा तो मैंने फरहान को हटाते हुए उन्हें ज़मीन पर सीधा खड़ा कर दिया।आपी के खड़े होते ही फरहान फिर उनकी टाँगों के दरमियान बैठ गया और अपना मुँह आपी की चूत से लगाते हुए बोला- आपी थोड़ी सी तो टाँगें खोलें ना.

बीएफ देसी चूत दोस्तो, मेरी उम्र लगभग पैंतीस साल है। मुझे औरतों के कसे हुए मम्मों को देखने और उनकी चूत चूसने का जबर्दस्त शौक है।मेरे पड़ोस में चंचल भाभी रहती हैं। उनके पति प्रति दिन सुबह नौ बजे अपने ऑफिस चले जाते हैं। बच्चे बाहर होस्टल में पढ़ते हैं.

प्रियंका चोपड़ा का नंगा सेक्सी वीडियो

धंधा करने वाली लड़की का नंबरमेरा शहज़ादे भाई का ‘वो’ तो अभी तक फुल जोश में ही है।आपी ने एक नज़र मेरे सीधे खड़े लण्ड पर डाली और फिर फरहान की तरफ देख कर बोलीं- फरहान उठो.

मैं म०प्र० के रीवा जिले का हूँ। मेरी उम्र 26 साल है और मेरी अभी तक शादी नहीं हुई है। अब मैं अपने लण्ड का परिचय कराना चाहता हूँ मैं और लेखकों की तरह झूठ नहीं बोलूँगा कि मेरा लण्ड 10 इन्च या 8 इन्च का है।मेरा लण्ड सामान्य है, शरीर की ऊचाई 5 फीट 7 इन्च.वो मैं आपको दूँगा।वो मेरी तरफ देखने लगी और मैंने मौका देखकर उसका हाथ पकड़ा और अपनी ओर खींच लिया।इस बार उसने कोई विरोध नहीं किया और मैंने उसके होंठों पर होंठ रख दिए और उसका अधर-पान करने लगा।अब वो मेरा धीरे-धीरे साथ देने लगी।हम दोनों ने देर तक एक-दूसरे के होंठों का रसपान किया।अब मेरा हाथ उसके ब्लाउज के ऊपर गया और मैं उसके मम्मों को दबाने लगा.

आपी की साँसें बहुत तेज हो गई थीं और जिस्म मुकम्मल तौर पर अकड़ गया था। आपी मेरे लण्ड को भी अपनी तरफ खींचने लगी थीं।मुझे भी ऐसा महसूस हो रहा था कि शायद मैं अब कंट्रोल नहीं कर पाऊँगा.

जिसे देख कर मैं अपना होश खोने लगा।मैंने तुरंत अपने सारे कपड़े उतार डाले और उसे लेकर 69 की पोज़िशन में बिस्तर पर आ गया।उसकी चूत पैन्टी से ढकी हुई मेरे मुँह के ऊपर थी.

जिससे उनकी एक हल्की सिसकारी निकल गई।मेरा एक इंच जितना लण्ड उनकी चूत में घुस गया था। मैंने उन्हें हाथों पर किस करना चालू किया और हाथों से बोबों को दबाने लगा।वो जब नीचे से कूल्हे उठाने लगीं. तभी मैंने देखा कि पीने का पानी खत्म हो गया है।अब रात में 2 बजे कहाँ जाऊँ? मैं सीढ़ियों से उतर ही रहा था कि सामने वाले फ्लैट की लाइट जलती दिख गई।मैंने बेल बजाई और वो निकल कर आई।अब आप लोग सोच रहे होंगे कि वो कौन?अब मुझे क्या पता.

बांस की खेती राजस्थान जिससे वो दर्द से बिलखने लगी।मैंने उसके होंठों को अपने होंठों से दबा लिया। मैं थोड़ी देर शांत रहा.

गुजराती नमकीन

बीएफ देसी चूत: आपने सारी मूवी बनाई है?मैंने उसकी बात का कोई जवाब नहीं दिया और आपी के बारे में सोचने लगा.क्योंकि वो नहीं चाहती थी कि मैं वहाँ के बारे में कुछ गलत अनुभव लेकर जाऊँ।मौका देखकर मैंने उसे जाइॅन करने को पूछा और उसने ‘हाँ’ कह दी।उसका नाम ॠतु था.