बीएफ पुदि

Image source,पिपर पेरी

तस्वीर का शीर्षक ,

इंसान और जानवर की बीएफ: बीएफ पुदि, मैं- आह आह मेनका, मेरा निकलने वाला है… आह आह अहहहह… मैं आह आह गया…मेनका- आह हा आह आह अहहहा आ जा मेरे राजा, मेरे अंदर ही आ जा… मैं भी गयी बस आह आह हा अह्हहह… गयी… आह आह आह… मेरे… आह आह राजा…और मैं और मेनका एक साथ आ गये.

नौकरानी की बीएफ वीडियो

दीदी को भी ये पता लगा तो दीदी ने मुँह को और ज़्यादा खोलने की कोशिश की; लेकिन मेरा लंड था ही इतना मोटा कि दीदी का पूरा मुँह खुल गया था फिर भी लंड दाँतों से टकरा रहा था. ब्लू पिक्चर का चित्रमैंने धीरे से उनकी गांड उठाई और एक बार में भाभी की पैंटी अलग कर दी.

जब मेरे ताऊजी के लड़के की शादी होने वाली थी, तब हमारा पूरा परिवार उसकी शादी के लिए उसके शहर में गए थे. गांव की देसी भाभी का सेक्सशादी के बाद से उसने अंकित को रोक रखा था लेकिन आज जो भी कुछ हुआ ऑफिस में, उसके बाद माया बहुत उत्तेजित भी थी और उसके मन में अंकित को मजा देने की इच्छा भी थी.

फिर तब मैंने संजना को फ़ोन किया और उसे घर आने को कहा।संजना मेरे घर आ गयी।मैंने संजना से कहा- यार संजना, यह गलत नहीं होगा राजीव के साथ?संजना ने कहा- कुछ गलत नहीं होगा यार… और तुम कौन सा राजीव को धोखा दे रही हो?मैंने कहा- संजना, अगर किसी को पता चल गया तो मैं किसी को मुंह दिखाने लायक नहीं रहूँगी.बीएफ पुदि: घर पहुँचने पर मेरी मम्मी और पापा से मैंने नमस्ते किया और मम्मी ने गले से लगाया और कहा कि देखो पढ़ाई में मेरी बेटी कितनी पतली हो गई है, इतनी मेहनत करनी पड़ती है.

सुरेश ने काजल की टांगों को फिर से फैलाया और उसकी चूत के छेद पर अपना लंड सैट करके धक्का लगाना चालू कर दिया.नाभि में जीभ घुमाते हुए मैं अपने हाथ उनकी कमर पर बंधी साड़ी की गांठ पर ले आया और ज़ोर से उनकी साड़ी की गांठ को पकड़ कर खींचा तो साड़ी एक झटके के खुलकर नीचे गिर गई.

तामिळ सेक्स व्हिडिओ तामिळ सेक्स व्हिडिओ - बीएफ पुदि

यह सुन कर वे काफी खुश हुईं और फ़िर मुझसे कहने लगीं कि वैसे तो मैं ज्यादा लोगों से बातें नहीं करती, मगर तुम अच्छी तरह समझा रहे हो, इससे मुझे बड़ा अच्छा लग रहा है.किन्तु मैंने अपनी बीवी और उसके फ्रेंडस को ऐसी स्थिति में कभी नहीं देखा था.

यह सब तो मेरे लिए चुटकी बजाने जैसा आसान काम था क्योंकि शहर के 80% कम्प्यूटर इंस्टिट्यूट मुझ से जुड़े थे.बीएफ पुदि मेरे बेटे को होने वाली पत्नी और मेरी बीवी को होने वाली बहू पसंद आ जाए बस.

इस बार मैंने ताकत से झटका दिया और मेरा 4 इंच उसकी गांड में रगड़ता हुआ घुस गया.

sixवीडियो?

बीएफ पुदि गंदा वाला शॉट फॉरवर्ड करेगा तो देखूंगी?”गरम बातों से शायद उसे फिर एक बार ट्राय करने की इच्छा हुई होगी.

आदमियों का लैंड?मां बाप की चुदाई

बीएफ पुदि निशा ही क्यों? कहानी सुना रहे हो कि खुद बना रहे हो?”सुनाऊं या बनाऊं, तू सुनने से मतलब रखना.

एक्स एक्स एक्स बीएफ जबरदस्त

इधर मेरे मुंह में अंगूर का दाना और सख्त, और बड़ा होता जा रहा था जिसे जब मैं बीच बीच में हल्के से अपने दाँतों से दबाता था तो न सिर्फ प्रिया के मुंह से आनन्द भरी सीत्कारें निकलती थी बल्कि मेरे लिंग पर प्रिया की उंगलियाँ और ज़्यादा कस जाती थी.अवी से भी मैं सारी बातें करती थीं, लेकिन अब मेरी चूचियां कुछ बड़ी हो गई थीं.

बीएफ पुदि भाभी ने पूछा- और किसने ये सीडी देखी है और क्या चाहते हो? ब्लैक मेल करना चाह रहे हो?मैंने कहा- भाभी, आप इस सोसाइटी की सबसे नेक औरत हो, किसी की तकलीफ में सबसे पहले आप आती हैं, इसलिए उसे तो आप अपने दिमाग से निकाल लें.

हिंदी बीएफ फिल्में

सेक्सी एचडी भाभीउन्होंने कहा कि हो तो पूरी बॉडी में रहा है, मगर तुम जहाँ भी लगा पाओ.

इसके बाद उसने अपनी सहेलियों से जाने की पर्मिशन ली और मेरे साथ चल दी.जब कोई का काम निकल जाता है तो थोड़ी याद करेगा?आंटी- कुणाल एक अच्छा लड़का है.

मैंने कहा- ममता भाभी जब तुम सोच चुकी हो तो बता क्यों नहीं दिया कि तुमने क्या सोचा कि तुम मेरा लंड अपनी चूत में लोगी कि नहीं, यदि मैंने नहीं पूछा तो तुम ही बता देतीं.

”वो जोर जोर से चिल्लाते हुए बोल रही थीं- अह्हा… धीरे धीरे चोद भोसड़ी के.

जैसे उसने अपना लंड मेरी गांड से निकाला, मैं अपने आप जमीन पे लुढ़क गयी. मैं चाचा को इसलिए कुछ नहीं बोलती थी क्योंकि वो कभी कभी मेरी हेल्प भी कर देते थे और कभी कभी मुझे अपनी कार से ऑफिस भी छोड़ देते थे.

देसी बीएफ ओपन मैं तो बस हवा में उड़ रही थी और अंजाने में मेरे मुँह से वो निकाला जो शायद महेश चाहता था.

बीएफ सेक्स मसाज

बीएफ पुदि: वैसे तो मेरा लंड पहले से ही टाइट था लेकिन माँ का हाथ पड़ते ही और टाइट हो गया, लग रहा था कि लंड की नसें बाहर हो जाएँगी.मैं अकेला नहीं हम सब साथ में चोदेंगे उस रंडी को, तभी उसको समझ आएगा कि प्यार में धोखा क्या होता है और साली का एमएमएस बना लेंगे ताकि वो अपना मुँह ना खोल पाए.