मौसी की बीएफ हिंदी में

Image source,देवर भाभी की सेक्सी वीडियो भोजपुरी

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ ऑंटी सेक्स: मौसी की बीएफ हिंदी में, मैं कपड़े ठीक करके बाहर गई, जेठ जी अपने कमरे में थे, उनके कमरे का दरवाजा खुला था।मैंने अन्दर जाकर पूछा- कोई काम है क्या?भाई साहब बोले- नेहा, मुझे एक कप चाय बना दो.

चोदने वाली सेक्सी व्हिडिओ

’पर पति ने मेरी एक ना सुनी और मुझे भी नंगी करके बिस्तर पर लिटा कर खुद मेरे ऊपर चढ़ कर मेरे छाती और निप्पलों को मसकने लगे। एक तो मेरे चूचुक मिसवाने के लिए गैर मर्द के हाथ लगाने से सुबह से ही खूब तने हुए थे. सेक्सी ऑंटी विडिओबल्कि मुझे तो इतना अधिक विश्वास है कि आपको इसे पढ़ते वक़्त मज़ा आएगा और आप अपना पानी निकालने को मजबूर हो जाएंगे।यह कहानी मेरी और मेरी भाभी की है.

नमस्ते दोस्तो, मेरा नाम बबलू है, मैं एक प्रसिद्ध कंपनी में कार्यरत हूँ। मेरा काम के सिलसिले में घर से बाहर ज्यादा समय रहता है और घर पर कम. चुदाई सेक्सी मूवीआहिस्ते! भैया आहिस्ते! अब दर्द हो रहा है और उसने अपनी चूत को सिकोड़ ली और, मेरा लण्ड उसकी चूत से बाहर निकल आया.

और हाँ अर्चना को भी अपने साथ लेते आना। अभी कोई चुदाई वुदाई नहीं, बस मेल जोल ही होगा।मेरे मन में तो लड्डू फूट रहे थे। फिर अचानक थोड़ा डर भी गया कि यार इतने सारे लोगों के बीच में पता नहीं ये मेरे बारे में क्या बोलेगी.मौसी की बीएफ हिंदी में: कोई दिन ऐसा नहीं जाता था कि बात ना होती हो।यह सिलसिला चार साल तक यूं ही चलता रहा। चार साल बाद उसे अपने एक काम के कारण इलाहाबाद आना था और हमारी मिलने की तड़प पूरी होने वाली थी।आखिर वो समय आ ही गया.

शायद उस वक्त मैं उसको मना कर देता क्योंकि उस वक्त वो कमसिन रही होगी और बहुत दुबली-पतली भी थी लेकिन अब 18 की हो गई है.धीरे करो’मैंने आंटी की बात पर ध्यान नहीं दिया अब मैं अपने आपे में नहीं था इसलिए मैंने आव देखा न ताव ज़ोर का एक झटका दिया और अपना आधा लंड आंटी की टाइट गांड के अन्दर डाल दिया.

मारवाड़ी देसी सेक्सी पिक्चर - मौसी की बीएफ हिंदी में

अब घर में सिर्फ मैं और स्नेहा थे। मैं काफी खुश था कि अब मेरे और स्नेहा के बीच कोई नहीं है।सर्दी के दिन थे, एक बार अचानक रात के 4 बजे स्नेहा मेरे कमरे में आई.सुबह 12 बजे सोकर उठे तो मैंने पापा से कहा- पापा आज फिर चोदेंगे?‘अरे मेरी जान अब मैं बेटीचोद बन गया हूँ.

तुम किसे पसंद करती हो।तो कुछ नहीं बोली और उसने मुझसे पूछा- कितने दिनों तक रहोगे यहाँ?मैं बोला- एक हफ्ते रहूँगा।‘हम्म.मौसी की बीएफ हिंदी में मैं मन ही मन सोचने लगा कि, इसकी गाण्ड में लण्ड घुसा कर चूची को मसलते हुए चोदने में कितना मज़ा आएगा!बेख्याली में मेरा हाथ मेरे तन्नाए हुए लण्ड पर पहुँच गया और, मैं लुंगी के ऊपर से ही सुपाड़े को मसलने लगा.

फ़िर हम दोनों सो गए और शाम को 4 बजे हम दोनों एक दूसरे को चूमने चाटने के साथ ही फिर से चुदाई का प्रोग्राम चालू कर दिया.

एक्स एक्स वीडियो कॉम हिंदी?

मौसी की बीएफ हिंदी में तब मैं यहाँ अनु को ढंग से भोग लूँ।उसके बाद मौसी ने मौसा से बात की और मुझे आकर कहा- लो मैं भी जा रही हूँ तुम्हारे पास 2 दिन है.

एक्स एक्स एक्स एक्स इंग्लिश?साली की बीएफ

मौसी की बीएफ हिंदी में पर मेरे कानों में कुछ सुनाई नहीं पड़ रहा था। मैं तो अपने ख्यालों में खोई हुई अपनी जाँघों से चूत को दाबे हुए.

झवाझवि कथा

तुम भी मेरे से वो क्रीम ले जाना।अब उसने मेरी चूत को चाटना शुरू किया… तो उसको मजा आया और वो चाटती ही रही.सच में मैं उस वक़्त जन्नत की सैर कर रहा था। मैं जोर-जोर से झटके मार-मार कर उसे चोद रहा था।कुछ देर तक मैं उसे वैसे ही चोदता रहा और चुम्बन करते हुए उसके मम्मों को अपने सीने से दबा रहा था। तभी उसने मुझे कस कर पकड़ा और मुझे अपने नीचे ले लिया और मुझे बुरी तरह से चुम्बन करने लगी।उसने मुझसे कहा- जान.

मौसी की बीएफ हिंदी में मैं अन्दर नहीं लूँगी। मेरी मासूम सी चूत और गाण्ड तो फट ही जाएगी। तुम बस ऐसे ही मजे ले लो।मैंने सोनम की एक ना सुनी और उसकी चूत पर क्रीम लगाई और अपना लण्ड चूत में घुसा दिया।उसकी चूत बहुत टाइट थी, बहुत कोशिश के बाद लण्ड अन्दर गया। मेरे लण्ड से भी खून निकलने लग गया, मैंने फर्स्ट टाइम किसी लड़की की चूत ली थी।सोनम- आ आ.

सेक्सी ब्लू फिल्म चुदाई

ब्लू फिल्म देखने वाली हिंदी मेंइसलिए पहली बार चुदने वाली लड़की बहुत नानुकर करती है। उसे चोदते वक्त बड़े आराम से चोदना पड़ता है। उसको अगर तकलीफ हुई.

पर वहाँ वह दिखाई नहीं दिया।मैं इधर-उधर देखते हुए फोन करने ही वाली थी कि मुझे उस लड़के की आवाज सुनाई दी- चल इधर आ जा।मैंने देखा तो वो आवाज 403 नम्बर के कमरे से आई थी। मैं सीधे उसके कमरे में घुस गई। उसने रूम बंद करते हुए मुझे बाँहों में भरते हुए पूछा- अब तक कहाँ थी.हाय मैं शेखर आपके लिए एक स्टोरी लेकर आया हूँ मेरी उम्र २६ साल है मेरे घर में माँ एक छोटा भाई और दो बहन है मेरे पिताजी के देहांत के बाद मैंने १२वीं पास करके पढाई छोड़ दी और घर के पालन पोषण में जुट गया मेरी बहन की शादी हमने एक अच्छे खानदान में पक्की कर दी मगर उन्होंने पहले दो लाख रुपये दहेज़ माँगा था.

पैंटी उतारा तो उसकी बुर बिल्कुल गोरी उस पर भूरे छोटे बाल हल्के हल्के अब तो मैं पागल हो गयाबुर को छुआ तो लगा जैसे भट्टी हो गरम गरम बुर को मैं सहलाने लगा तो वो स्सस्सस्सस्स आह ओह्हह्हह्हह्हकया कर रहे हो प्लीज़्ज़ज़्ज़ज़्ज़ज़……मैने उसकी बुर की स्लिट में उंगली डाली तो बोली क्या उंगली ही डालेंगे आप वूऊऊऊ कहकर चुप हो गयीए…….

आगे सब समझ जाओगे।वो तीनों घर पहुँच गए और अपने-अपने कमरों में चले गए।पायल कमरे में गई और पूरे कपड़े निकाल कर फेंक दिए.

लेकिन कपड़े इस्तरी करते वक़्त उसने दुपट्टा नहीं लिया हुआ था। मुझे कुछ दूर से अपनी बहन की गाण्ड की लाइन सलवार में से हल्की-हल्की नज़र आ रही थी. मैं बैठ गया और बात करने लगा।मैंने कहा- स्नेहा तुम इतनी खूबसूरत हो और वो लड़का मुझ कुछ ठीक नहीं लग रहा था… क्या करता है वो?‘वो बाजू में रेलवे स्टाफ के फ्लॅट्स में रहता है.

बुर चुदाई सेक्सी अब मैं नीचे था और स्नेहा ऊपर।उसने मेरे लिंग को अपने हाथ से पकड़ा और अपनी योनि से सटा कर उस पर बैठ गई और ऊपर-नीचे होने लगी। तक़रीबन 20 मिनट के अन्दर उसकी योनि ने रस-वर्षा कर दी और इस रस- वर्षा की गर्मी के कारण थोड़ी देर बाद मैं भी स्खलित हो गया।उस रात हमने दो बार सेक्स किया। कुछ दिन हमने बहुत मजे किए.

ब्लू सेक्स ब्लू सेक्सी

मौसी की बीएफ हिंदी में: तो रुक पहले तेरी भाभी का इलाज करके आता हूँ।अर्जुन जल्दी से कमरे के बाहर गया और भाभी को ढूँढने लगा। वो जल्दी समझ गया कि भाभी बाहर गई हैं तो वो फ़ौरन अन्दर आ गया और निधि को बिस्तर पर पटक दिया।निधि- क्या हुआ.क्योंकि यहीं से शुरूआत हुई मेरे पहले मीठे एहसास की।27 दिसम्बर 2011रात में अचानक मुझे लगा कि कोई मेरे बहुत नजदीक खड़ा है.