बीएफ अच्छा

Image source,शेकशिबिडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ सेक्सी शॉर्ट वाली: बीएफ अच्छा, मैं उसको किस करने लगा और उसके हाथों को खोल दिया।उसने अपने हाथ खुलते ही खुद अपने जिस्म से ब्लाउज और ब्रा को निकाल कर दूर फेंक दिया।इसके बाद उसने मुझे अपने गले से लगा लिया, हम दोनों किस करने लगे।उसने मेरे लंड पर हाथ फेरा और पेंट खोल दी। मैंने भी भाभी की बुर पर ढक्कन के रूप में फंसी हुई उसकी गीली पेंटी को खींच कर उतार दिया।अब हम दोनों बेड पर चुदाई की मुद्रा में आने लगे.

सेक्स सेक्स सेक्स ब्लू

मैं मामी को बेखौफ़ दनादन चोदने लगा, मैं बोला- मामी एक बार चुत में पानी जाने दे. हिंदी की ब्लू पिक्चर’ मेरी ओर से सीत्कार बढ़ती जा रही थी। मेरी चुत का पानी मेरी जांघों से होता हुआ.

’ निकल गई।यह हिंदी सेक्स स्टोरी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!इधर मेरे हाथ भी ज़ोरों पर चल रहे थे और दिल भी फुल स्पीड से धड़क रहा था।इससे पहले मम्मी इस हमले से संभल पातीं. அத்தைசெக்ஸ்वंदना को मेरी उंगलियों की सरसराहट का आभास हुआ और उसने अपनी बाहें मेरे गले में डाल कर मेरे होंठों को और भी जोर से चूसना शुरू कर दिया.

और सब ऐसे ही पड़े रहे।कुछ देर बाद उठे तो पता चला कि सबकी नींद लग गई थी और शाम हो चुकी थी।हमने झटपट अपने टिफिन का खाना खा लिया जो हमने सुबह स्कूल के लिए रखा था।उसके बाद एक राऊंड और चला, दूसरे राऊंड में मैंने खुलकर मजा किया। फिर उन्होंने मुझे घर छोड़ दिया।मैंने मम्मी से सर दुखने का बहाना किया और अपने कमरे में जाकर सो गई।कहानी जारी रहेगी.बीएफ अच्छा: इस वजह से उनका सारा बदन गीला हो गया था। उस वक्त आंटी बहुत ही सेक्सी लग रही थीं और मैं उन्हें एकटक देख रहा था।तभी आंटी ने मुझे घूरते हुए देख लिया तो वो अपने घर के अन्दर चली गईं।फिर वो थोड़ी देर से बाहर आ गईं और उन्होंने मुझे बुलाया- अरे प्रणव, ज़रा इधर तो आना!मैं- जी आया.

एकदम क्यूट सी हैं, उनके 38 इंच के बोबे, बलखाती कमर 30 इंच की और उठी हुई गांड भी लगभग 38 इंच की थी।वो जब गाउन पहनतीं.तेरा भी क्या मस्त माल है।’ कमल ने सरला भाभी के चूतड़ों को मसल दिए और उनके ब्लाउज से निकलती चूचियों को चूम लिया- अह्ह्ह.

राजस्थानी नंगी पिक्चर - बीएफ अच्छा

मैंने भी उसके पूरे बदन पर जहाँ तक मेरे हाथ जा सकते थे वहाँ तक उसे सहलाना और मसलना जारी रखा.फिर मैं तुम दोनों को तेल लगा दूँ।हम दोनों नहाने चले गए और नहा कर आ गए तो माँ ने बोला- आज तौलिया क्यों नहीं उतारा।यह कहते हुए माँ ने मेरा तौलिया निकाल दिया। रोज की तरह मैं माँ के सामने नंगा लेट गया। अभी माँ तेल लगा ही रही थीं कि मनीता भी उधर आ गई।आज मुझे उससे पहले तेल लगते देख मनीता ने माँ से बोला- पहले मैं तेल लगवाती हूँ.

तो वहाँ एक और नजारा देखने को मिला। एक बन्दर एक बंदरिया पर चढ़ रहा था। थोड़ा देर सेक्स करने के बाद बन्दर का माल निकल गया तो उसने हाथ में लगा सब खा लिया।मेरी चिकित्सक बुद्धि से मैं ये खेल देख रहा था। मैंने सब अपने कैमरे में कैद कर लिया। यह सेक्स कला बंदरों से ही अनुदानित है.बीएफ अच्छा ’ बोला और हम दोनों पढ़ने के लिए बैठ गए।उसको देखने के बाद आज मैं फुल मूड में आ गया था, मैंने रिया को बोला- तू मेरी फ्रेंड है ना तुझसे कुछ पूछूँ.

पर मेरा ध्यान मामी के ऊपर था।अचानक रात के 2 बजे मेरी आँख खुली तो मैंने देखा कि मामी सो रही थीं। मेरे मन में शैतान जाग गया और मैं जा कर मामी के मम्मों को दबाने लगा।चूची दबने के कारण थोड़ी ही देर में मामी जाग गईं। वो मेरे को देख कर बोलीं- छोड़ दे.

ಸನ್ನಿ ಲಿಯೋನ್ ಸೆಕ್ಸ್ ವೀಡಿಯೊ?

बीएफ अच्छा और दोबारा उसके शरीर से खेलने लगा।मैंने धीरे से उसके बदन से पेंटी खींचनी शुरू की, जैसे ही पेंटी उसकी चूत से नीचे उतारी.

पंजाबी एक्स एक्स एक्स मूवी?नंगी फिल्म बीएफ वीडियो

बीएफ अच्छा क्योंकि तुम सबकी मदद करते हो, यह मुझे बहुत अच्छा लगता है।यह सुन कर मेरी तो खुशी का ठिकाना ही नहीं रहा.

ब्लू पिक्चर हिंदी पिक्चर

तो चख ले।पायल आंटी का बस यही बोलना था कि मैंने जल्दी से अपनी एक हाथ की उंगली उनकी पेशाब की धार में लगा दी। मैंने जैसे ही उनकी पेशाब की धार को उंगली लगाई.’ हुई। आंटी ने मुझे घर तक लिफ्ट ऑफर की तो मैंने ‘हाँ’ बोल दी।यहाँ मैं आपको बता दूँ कि आंटी के पति अच्छी खासी तनख्वाह पाते हैं.

बीएफ अच्छा तू तो बहुत मस्त चुदाई करना जानता है और रगड़ मुझे!मैं भी हॉट हो गया था.

एक्स एन एक्स एक्स फिल्म

ಬಿಎಫ್ ಸೆಕ್ಸ್ ವಿवो किसी गरम कुतिया की तरह और आगे की तरफ झुक कर अपनी गांड भैया के लंड में घुसाने लगीं।अब भैया का खड़ा लंड ठीक मम्मी की गांड की दरार में से होकर उनकी चूत वाले हिस्से में घुसा जा रहा था और वहाँ से मम्मी की नाइटी अन्दर को घुसी हुई दिख रही थी।इधर मम्मी मदहोश हुई जा रही थीं कि तभी भैया ने डब्बा उतार कर मम्मी के आगे रख दिया.

खेलता रहता था।उसकी माँ यानि वो भाभी उसे लेने के लिए रोज आतीं। इसी वजह से मैं भी भाभी से बोलने का मौका ढूँढता रहता था, वो मुझसे 2 मिनट बात करके चली जाती थीं।ऐसा करीब 2 महीना चला। भाभी से मेरी मुलाकात बहुत बार हो चुकी थी। मैं उनके बेटे के स्कूल जाते समय जानबूझ घर से बाहर निकलता और उनसे बात करने की कोशिश करता रहता, वो भी मुझसे मजे से बात करतीं और मुस्कुरा कर ‘बाय.मैं ठीक समय सर के घर गई, सारे स्टूडेंट जा चुके थे, सर मेरा ही इंतज़ार कर रहे थे.

मैं चुत को चाटने लगा।उसकी चिकनी चुत पर पहली बार किसी ने किस किया था.

कल मुझे भी जाना है।उन्होंने कहा- ठीक है मैं तुम्हारे भैया से पूछ लेती हूँ।उन्होंने भैया से परमिशन ले ली और अगले दिन मैं उनके साथ चल दिया।मौसम में ठंड के साथ सड़क पर कोहरा भी बहुत था.

मेरी समझ में नहीं आ रहा था कि इस बात पर मैं क्या बोलूं। अपनी माँ की भरपूर जवानी के बारे में मैं भैया से खुद कैसे बात कर सकता हूँ!मैं बस ‘हम्म. ये तो बहुत गर्म और रॉड जैसा कड़क हो गया है!मैंने बोला- ये तुम्हारे लिए ही हुआ है जान.

मारवाड़ी देसी वीडियो सेक्स सभी हँसने लगे।इस तरह हमने हँसते खेलते अपनी चुदाई का पहला राउंड पूरा किया।इस रस भरे ग्रुप सेक्स की हिंदी सेक्स स्टोरी पर आप अपने ईमेल मुझे जरूर कीजिएगा।[emailprotected]मेरी ग्रुप चुदाई की कहानी जारी रहेगी।.

एक्स एक्स एक्स एचडी हिंदी में

बीएफ अच्छा: जिस वजह से उसको बेहिसाब दर्द हो रहा था।मैंने आहिस्ता-आहिस्ता अपने लंड को उसकी गांड में डालना शुरू कर दिया। देखते ही देखते मैंने पूरा लंड उसकी गांड में डाल दिया और डालने के बाद धीरे से अन्दर-बाहर करने लगा।उसके मुँह से आवाज़ निकली- आहह.उन्होंने काले रंग की ही ब्रा-पेंटी पहनी हुई थी। उनका सेक्सी बदन देख कर मैं और भी उत्तेजित हो गया, मैंने उन्हें पूरी नंगी कर दिया और खुद भी नंगा हो गया।मैं भाभी के मम्मों को दबा कर उनके कड़क निप्पलों को चूस रहा था।भाभी के चूचे बहुत ही सॉफ्ट थे, मैंने उन्हें दबाकर कड़क कर दिया।उनकी नाभि भी बहुत क्यूट थी.